News PR Live
आवाज जनता की

एक घंटे की बारिश में ही डूब गयी नगर पार्षद की कश्ती, जाम पड़े नालों ने बयां की नप की बदहाली, सड़कें बनीं तालाब

- Sponsored -

- Sponsored -

NEWSPR डेस्क। भभुआ में बारिश हुई नहीं कि नगर पर्षद की पोल खुलने लगती है। गुरुवार दोपहर एक बजे आयी मूसलाधार मॉनसूनी बारिश से भभुआ शहर पानी-पानी हो गया़। सड़कें जहां तालाब बन गयी, वहीं शहर का एक भी मार्ग ऐसा नहीं बचा जिससे बारिश के पानी का तेज बहाव नहीं हो रहा हो। एकता चौक,कचहरी रोड,स्टेडियम रोड,महावीर मंदिर रोड आदि सड़कों पर भारी जलजमाव के कारण मोटरसाइकिल व स्कूटी जहां-तहां बंद हो गये।

राहगीरों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा़। झमाझम हुई मानसून की बारिश लगभग एक घंटे तक हुई। इस बारिश ने जहां किसानों के चेहरे पर खुशियां लौटायी। वहीं लोगों को गरमी से भी राहत दी। गौरतलब है कि पिछले एक हफ्ते से बारिश अटकी पड़ी थी और लोग बाग गर्मी और उमस से बेहाल थे, लेकिन गुरुवार दोपहर एक बजे से शुरू हुई मूसलाधार बारिश ने भभुआ शहर की सूरत ही बदल दी।

- Sponsored -

- Sponsored -

अधिकांश सड़कें तालाब बन गयी। शहर के सभी मार्गों पर घंटों पानी लगा रहा। यातायात व्यवस्था ठप हो गयी और शहर थम-सा गया। शहर में जल निकासी की बदहाल व्यवस्था के कारण चारों ओर स्थिति अस्त-व्यस्त रही। एक घंटे की बारिश ने नाला उड़ाही की पोल खोल दी। एक ओर जहां शहरवासी भभुआ को स्मार्ट सिटी बनने का सपना देख रहे हैं, वहीं नगर प्रशासन की लचर व्यवस्था के कारण शहर की स्थिति काफी नारकीय बन गयी।

हर साल बरसात से पहिले नगर पर्षद जोर शोर से नाला उड़ाही का कार्य करता है लेकिन हाल यह है कि शहर के नाले व नालियों की अक्षमता के चलते एक या दो घंटे की बारिश को भी बरदाश्त करने की क्षमता नहीं है़। नगर पार्षद की बदहाल व्यवस्था के कारण ही गुरुवार को झमाझम हुए प्री मानसून के मात्र एक घंटे की बारिश भी शहर पर भारी पड़ गयी़ और लाख नाला उड़ाही और प्लान के बावजूद पहले से जाम पड़े नालियों ने दम तोड़ दिया और बारिश का पानी नाले के बदले सड़कों पर बहने लगा। एकता चौक पर तो जाम के चलते घुटनों तक पानी सड़क पर आ गया। लोग खासकर महिलाएं,युवतियां और बच्चे उसी नाले के गंदे पानी के बीच आने जाने को मजबूर हुए।

कैमूर/भभुआ से ब्रजेश दुबे की रिपोर्ट

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Leave A Reply

Your email address will not be published.