News PR Live
आवाज जनता की

IPL 2022: आईपीएल में हुई कोरोना की एंट्री, दिल्ली कैपिटल्स की पूरी टीम क्वारंटीन

- Sponsored -

- Sponsored -

NEWSPR डेस्क। आईपीएल 2022 में अब कोरोना ने दस्तक दे दी है। इस खबर से फैंस के बीच हड़बड़ी मच गई है। फैंस के चेहरे मायूस हो गए है। दरअसल, दिल्ली कैपिटल्स के फिजियो पैट्रिक फरहार्ट पहले ही कोरोना पॉजिटिव आ गए थे। अब एक विदेशी प्लेयर के कोरोना संक्रमित होने की खबर आ रही है। ऐसे में दिल्ली टीम को मुंबई के होटल में ही क्वारंटीन कर दिया गया है। टीम के सभी खिलाड़ियों का RTPCR टेस्ट निगेटिव निकला है। BCCI  अब एक और टेस्ट कराएगी।

दिल्ली टीम क्वारंटीन

बता दें कि ऋषभ पंत की कप्तानी वाली दिल्ली टीम को अगला मैच पंजाब किंग्स  के खिलाफ 20 अप्रैल को पुणे में खेलना है। इसके लिए दिल्ली टीम को 18 अप्रैल को ही पुणे के लिए रवाना होना था, लेकिन अब पूरी टीम क्वारंटीन है। पॉजिटिव हुए खिलाड़ी की RTPCR रिपोर्ट का इंतजार है। इसके बाद ही कोई फैसला लिया जाएगा।

इन तमाम चीजों के बीच फैन्स के मन में एक ही सवाल उठ रहा है कि यदि कोई एक या एक से ज्यादा खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव पाए गए तो क्या होगा?  क्या सिर्फ दिल्ली टीम का मैच टाला जाएगा या फिर पूरा आईपीएल सीजन ही रद्द कर दिया जाएगा?

- Sponsored -

- Sponsored -

BCCI ने पहले से कर रखी है तैयारी

बता दें कि इस सीजन से पहले ही BCCI ने ऐसी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तैयार कर ली थी। बोर्ड ने कुछ नियम बनाए थे। अब इस स्थिति से भी उन नियमों के मुताबिक ही निपटा जाएगा। नियम के मुताबिक यदि कोई एक खिलाड़ी या स्टाफ संक्रमित हुआ तब, उस स्थिति में उस पॉजिटिव व्यक्ति को 7 दिन के लिए आइसोलेशन में भेजा जाएगा। इसी दौरान छठे और 7वें दिन RT-PCR टेस्ट होगा। दोनों टेस्ट में निगेटिव आने पर ही टीम के साथ बायो-बबल में एंट्री दी जाएगी। एंट्री से पहले यह भी देखा जाएगा कि पिछले 24 घंटे में उसे कोई लक्षण तो नहीं हैं या उसने कोई मेडिसिन तो नहीं ली है।

किसी एक मैच के लिए प्लेइंग इलेवन में कम से कम 7 भारतीय और ज्यादा से ज्यादा 4 विदेशी खिलाड़ी खिलाने होते हैं। एक सब्स्टीट्यूट (भारतीय) भी होता है। इस तरह 12 प्लेयर्स की टीम मैच के लिए तैयार करते हैं। यदि कोरोना संक्रमण की वजह से किसी टीम का यह बैलेंस गड़बड़ाता है, तो उस स्थिति में मैच को रिशेड्यूल किया जाएगा।

यदि किसी कारण से यह संभव नहीं होता है,  तो यह पूरा मामला IPL की टेक्निकल कमेटी को भेजा जाएगा।  तब कमेटी का फैसला ही मान्य रहेगा। इससे पहले किसी मैच को रिशेड्यूल करने की प्रोसेस नहीं थी। तब यदि कोई टीम प्लेइंग-11 उतारने में सक्षम नहीं होती थी, तो विपक्षी टीम को पॉइंट्स दिए जाते थे।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Leave A Reply

Your email address will not be published.