News PR Live
आवाज जनता की

मुख्यमंत्री ने इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (IGIMS) जाकर ऊर्जा-सह-योजना एवं विकास मंत्री श्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव का कुशलक्षेम पूछा

- Sponsored -

- Sponsored -

NEWSPR डेस्क। मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार आज ऊर्जा सह योजना एवं विकास मंत्री श्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव का कुशलक्षेम जानने इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (IGIMS). पटना पहुँचे। IGIMS के ACCU यूनिट पहुँचकर मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने श्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव से उनका हालचाल जाना। मुख्यमंत्री ने चिकित्सा कर रहे चिकित्सकों से इलाज के बारे में भी अद्यतन जानकारी ली। इस दौरान उप मुख्यमंत्री सह स्वास्थ्य मंत्री श्री तेजस्वी प्रसाद यादव, वित्त मंत्री श्री विजय कुमार चौधरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री प्रत्यय अमृत, आई०जी०आई०एम०एस० के मेडिकल सुप्रीटेंडेंट डॉ0 मनीष मंडल और डॉ० कृष्ण गोपाल सहित अन्य वरीय चिकित्सक उपस्थित थे।

- Sponsored -

- Sponsored -

मुलाकात के पश्चात् मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से बातचीत करते हुये कहा कि श्री बिजेंद्र प्रसाद यादव जी को यहां देखने आए थे, उनकी तबीयत पहले से ठीक है। कल राजद सुप्रीमो श्री लालू प्रसाद यादव से हुई मुलाकात को लेकर पत्रकारों द्वारा पूछे गए प्रश्न के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा उनसे पुराना संबंध है। हमलोग एक साथ हैं, पहले से संबंध है। भाजपा द्वारा फिर से जंगलराज आने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा- जिसको जो मन में आता है बोलने दीजिए, जब जरूरत होगी तो सारी बात बोलेंगे। प्रचार-प्रसार में लोग बोलते हैं, इसका कोई मतलब नहीं है। तेजी से और काम किया जाएगा, चिंता न करें। विधि मंत्री श्री कार्तिक कुमार पर लगे आरोपों पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वो सब देखा जा रहा है कि मामला क्या है।

जदयू विधायक श्रीमती बीमा भारती द्वारा श्रीमती लेशी सिंह को मंत्री बनाए जाने के विरोध में दिए गए बयान को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रीमती लेशी सिंह वर्ष 2013 में मंत्री बनीं, फिर वर्ष 2014 में मंत्री बनीं और फिर वर्ष 2019 में मंत्री बनीं। इस बार भी मंत्री बनी हैं। इस तरह की बात नहीं बोलनी चाहिए। इसका कोई मतलब नहीं है। श्रीमती लेशी सिंह के साथ कोई दिक्कत नहीं है। श्रीमती लेशी सिंह को मंत्री बनाया गया, वो ठीक है। श्रीमती बीमा भारती से पार्टी बात करेगी। उन्होंने कहा कि श्रीमती बीमा भारती को भी दो बार मंत्री बनाया गया। उन्हें वर्ष 2014 और 2019 में मंत्री बनाया गया था। इसकी गुंजाइश नहीं है कि सभी को मंत्री बनाया जाय । अगर कोई बयान देता है तो पहले पार्टी की ओर से समझाया जाएगा, पूछताछ की जाएगी। हमलोगों की पार्टी में इस तरह की कोई बात नहीं है। कोई उनसे कुछ कहवा दिया है, वो गलत है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

Leave A Reply

Your email address will not be published.